बीसीसीआई के नए फिटनेस टेस्ट में असफल हुए 6 खिलाड़ी

 


कोरोना वायरस की वजह से खेल के मैदान से दूर रहे भारतीय खिलाड़ियों के लिए बीसीसीआई ने यो-यो टेस्ट के अलावा एक अन्य फिटनेस टेस्ट बनाया है जिसे पास करना हर एक खिलाड़ी के लिए अनिवार्य है।

इस नए फिटनेस टेस्ट में खिलाड़ियों को 8 मिनट 15 सेकंड के समय में 2 किलोमीटर की दूरी तय करनी होती है।

भारत और इंग्लैंड के बीच होने वाले एकदिवसीय और टी-20 सीरीज को ध्यान में रखते हुए बीसीसीआई द्वारा 20 खिलाड़ियों को इस नए फिटनेस टेस्ट के लिए बुलाया गया था जिसमें ईशान किशन, संजू सैमसन, जयदेव उनादकट, राहुल तेवतिया, और नितेश राणा इस टेस्ट को पास करने में असफल रहे। चूंकि बीसीसीआई ने इस फिटनेस टेस्ट को पहली बार लागू किया है जिस वजह से इन सभी 6 खिलाड़ियों को एक और मौका दिया जाएगा। आश्चर्य की बात यह रही कि इन खिलाड़ियों में ज्यादातर युवा क्रिकेटर है इसके बावजूद वे इस टेस्ट को पास करने में असफल रहें।

आईपीएल व ऑस्ट्रेलिया दौरे के दौरान तमाम भारतीय क्रिकेटर एक के बाद एक चोटिल एवं अनफिट होते पाए गए जिस वजह से बीसीसीआई द्वारा इस नए फिटनेस टेस्ट को लाया गया।

इन खिलाड़ियों में संजू सैमसन, सिद्धार्थ कौल व जयदेव उनादकट भारत के लिए अपना डेब्यू कर चुके हैं जबकि अन्य तीन खिलाड़ी ईशान किशन, राहुल तेवतिया व नितीश राणा को अब तक भारतीय टीम की ओर से खेलने का मौका नहीं मिला है‌।

इन खिलाड़ियों के आईपीएल टीम के बारे में बात करें तो संजू सैमसन, जयदेव उनादकट व राहुल तेवतिया राजस्थान रॉयल्स की ओर से खेलते हैं जहां आईपीएल 2021 के लिए संजू सैमसन को स्टीव स्मिथ के स्थान पर कप्तान के रूप में चुना गया है वहीं तेवतिया ने भी पिछले वर्ष अपने बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों से शानदार प्रदर्शन किया था और राजस्थान रॉयल्स को कई मुकाबले जीताए थे जबकि जयदेव उनादकट के लिए पिछला आईपीएल कुछ खास नहीं रहा।

ईशान किशन आईपीएल 2020 की चैंपियन मुंबई इंडियंस टीम का हिस्सा हैं और इनका पिछला आईपीएल काफी अच्छा रहा।

नितेश राणा आईपीएल में कोलकाता नाइट राइडर की ओर से खेलते हैं और इनका पिछला सीजन औसत रहा।

सिद्धार्थ कौल वर्तमान में सनराइजर्स हैदराबाद की टीम का हिस्सा हैं।

0/Post a Comment/Comments